Soni Pariwar india

छोटे कारोबारियों की मदद के लिए मेगा प्लान तैयार,

छोटे कारोबारियों और MSME सेक्टर की मदद के लिए सरकार मेगा प्लान पर काम कर रही है। जानकारी के मुताबिक, इन्हें 100 पर्सेंट सरकारी गारंटीड लोन दिया जाएगा, क्योंकि बैंक इन्हें लोन देने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं।

कोरोना संकट के कारण अर्थव्यवस्था की बैंड बजी हुई है और इसमें सुधार लाने के लिए तमाम विकल्पों पर चर्चा की जा रही है। MSME एक ऐसा सेक्टर है जिसका जीडीपी में योगदान एक तिहाई से ज्यादा है और 11 करोड़ लोगों को रोजगार देता है, लेकिन लॉकडाउन के कारण इसकी हालत खराब है। इस सेक्टर को राहत देने के लिए सरकार 100 फीसदी क्रेडिट गारंटी लोन देने पर विचार कर रही है।

इस सेक्टर में तेजी के बिना सुधार संभव नहीं
सरकार इस बात को भलीभांति जानती है कि जब तक इस सेक्टर में तेजी नहीं आएगी अर्थव्यवस्था में सुधार लाना संभव नहीं है। ऐसे में सरकार एक प्रस्ताव तैयार की है जिसके मुताबिक, छोटे बिजनसमैन को 100 पर्सेंट सॉवरिन बैक्ड लोन मिलेगा। मतलब लोन की गारंटी खुद सरकार उठाएगी। यह जानकारी रॉयटर्स ने एक सूत्रों के हवाले से दी है।

स्मॉल बिजनस का जीडीपी में बड़ा योगदान
मामले से जुड़े दो बैंकर्स ने बताया कि MSME को मिलने वाला लोन 25-100 फीसदी तक गारंटीड होगा जो बिजनस के आकार और नेचर ऑफ बिजनस पर निर्भर करेगा। स्मॉल बिजनस सरकार के लिए इसलिए जरूरी है क्योंकि जीडीपी में इसका योगदान एक चौथाई के करीब है और सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, कुल मिलाकर 50 करोड़ लोगों को रोजगार मिलता है।

बैड लोन का बोझ पहले से भारी
बैंक्स पर पहले से बैड लोन का बहुत भारी बोझ है। ऐसे में उन्होंने सरकार से साफ कर दिया है कि वह छोटे बिजनस के लिए लोन नहीं देंगे क्योंकि रिस्क फैक्टर बहुत ज्यादा है। ऐसे में सरकार की मजबूरी है कि वह छोटे बिजनस को बचाने के लिए खुद उसकी गारंटी ले।

बैंकों का कुल एक्सपोजर 4.91 लाख करोड़
रिजर्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च 2020 तक बैंकों का कुल एक्सपोजर 4.91 लाख करोड़ रुपये है। MSME सेक्टर में बैड लोन में लगातार तेजी आ रही है। दिसंबर 2019 तक बैंकों के कुल बैड लोन में MSME सेक्टर का योगदान 12.60 फीसदी था।

 

source:-navbharattimes

Read Previous

बीकानेर शहर भाजपा प्रवक्ता मनीष रोड़ा ने स्वर्णकारों को विशेष पैकेज देने की मांग की

Read Next

2 से 3 लाख में शुरू करें ये 5 बिजनेस, 80% तक फंड और सब्सिडी देगी मोदी सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat