Soni Pariwar india

ऑयल मिल बिजनेस की कैसे करें शुरुआत

तेल बिजनेस को शुरू करने से पहले आपको यह फैसला लेना होगा कि आप किस तरह का तेल बेचना चाहते हैं

देश में कोरोना वायरस लॉकडाउन की मार से आर्थिक व्यवस्था को बड़ा झटका लगा है। कई सेक्टर फाइनेंसियल क्राइसेस से जूझ रहे हैं। इस बीच अगर आप कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपके लिए बेहद फायदे का सौदा हो सकता है। कई ऐसे बिजनेस हैं, जिनमें सरकार भी बड़ी सहायता करती है। ऐसे ही एक ऑयल बिजनेस है। जिसमें आपको ऑयल (तेल) बना कर बाजार में बेचना होगा। इन दिनों तेल की मांग भारत में काफी है। बाजार कई किस्म के तेलों से भरा पड़ा है। आप चाहें तो इस बिजनेस को भी शुरू कर सकते हैं। इसमें तगड़ा मुनाफा भी कमाया जा सकता है। अगर आप एक किसान हैं और अपने खेतों में सरसो (mustard), सूरजमुखी (sunflower) की खेती करते हैं तो यह और फायदा होगा। इनके बीज से तेल बना सकते हैं। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको एक मिल की जरूरत होगी। जहां आप मशीनों को लगा सकें।

ये भी पढ़ें:-सी ए में सफलता हासिल कर निकिता सहदेव ने बीकानेर मैढ़ क्षत्रिय स्वर्णकार समाज का गौरव बढ़ाया

तेल बिजनेस को शुरू करने से पहले आपको यह फैसला लेना होगा कि आप किस तरह का तेल बेचना चाहते हैं। उसी हिसाब से आपको अपने मिल के लिए मशीनों की जरूरत होगी। मिल में मशीनों के जरिए बीजों से तेल निकाला जाता है। जैसे अगर आप सरसों का तेल बेचना चाहते हैं तो आपको सरसो का बीज पीसना होगा। उसी से तेल निकलेगा। फिर उसे पैक करके बाजार में बेचना होगा।

बिजनेस का स्तर (Business level)

स्वर्णकार समाज की खबरे देखने के लिए क्लिक करे 

अब सवाल ये है कि आप बिजनेस तो शुरू करना चाहते हैं लेकिन किस स्तर का । यानी जो आपकी ऑयल मिल होगी, उसकी क्षमता कितनी होगी। आप कितने मीट्रिक टन तेल का उत्पादन करना चाहते हैं। इसके स्तर को भी 3 हिस्सों में बांट सकते हैं।

soni pariwar jyotish

1 – छोटे स्तर का (Small scale industry) – इसमें आप दिन भर में 5-10 मीट्रिक टन तेल का उत्पादन कर सकते हैं।

 

2 – मझोले स्तर का (Medium scale industry) – इसमें आप दिन भर में 10 से 50 मीट्रिक टन तेल का उत्पादन कर सकते हैं।

 

3- बड़े स्तर पर (Large scale industry) – इसमें आप दिन भर में 50 मीट्रिक टन तेल का उत्पादन कर सकते हैं।

 

सरसों मिल खोलने पर कितने रुपये की आएगी लागत (How much it costs to open a mustard mill)

 

सरसों मिल के लिए आपको 15KW/20 HP (हॉर्स पॉवर) की मोटर लगानी होगी, जिसकी कीमत 40,000 रुपये आएगी।

 

तेल निकालने की मशीन जो कि एक लाख रुपये की मिलेगी।
खाली डिब्बे और बोतलें – 10000 रुपये
बिजली कनेक्शन 3 फेस का – 20,000 रुपये
कुल मिलाकर तेल मिल खोलने के लिए आपको 2 लाख रुपये की लागत आएगी, जिसमें लेबर चार्ज भी शामिल है।

तेल मिल के लिए कच्चा माल (Raw material for oil mill)

इसके लिए आपको कच्चे माल की जरूरत होगी। यानी बीजों की जरूरत पड़ेगी। आप बाजार से या किसी किसान से बीज खरीद सकते हैं। इसके अलावा आप बीज खुद भी उगा सकते हैं, लेकिन इसके लिए थोड़ा टाइम लगेगा।

कैसे खरीदे मशीनें (How you can buy these Machines)

 

आप बाजार से आवश्यकता के अनुसार मशीनें खरीद सकते हैं। नीचे दिए गए लिंक से आप ऑनलाइन भी खरीदारी कर सकते हैं।

 

https://dir.indiamart.com/impcat/oil-extraction-machine.html
https://www.alibaba.com/showroom/oil-extraction-machine.html
https://www.tradeindia.com/

 

लाइसेंस और प्रमाणन (Licenses And Certification)

soni pariwar india

इस बिजनेस को शुरू करने से पहले आपको कई तरह के लाइसेंस (Licenses) प्रमाणन (certification) की जरूरत पड़ेगी। जब तक आपको लाइसेंस और सार्टिफिकेशन नहीं मिल जाता है तब तक आप इस बिजनेस नहीं शुरू कर सकते हैं।
भारत सरकार द्वारा फूड आइटम्स के लिए दो तरह के लाइसेंस दिए जाते हैं। एक लाइसेंस ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स (Bureau of Indian Standards) और दूसरा लाइसेंस FSSAI द्वारा दिया जाता है। इसके अलावा आप जिस राज्य में इस बिजनेस को शुरू करते हैं वहां से भी कई तरह के लाइसेंस लेने पड़ सकते हैं।

source:-money control

Soni Pariwar India पर सबसे पहले स्वर्णकार समाज की खबर पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर व् इंस्टाग्राम पर फॉलो करें. देखिए अन्य लेटेस्ट खबरें भी .

Read Previous

21 May 2020: हरे निशान में खुले शेयर बाजार, सेंसेक्स में करीब 100 प्वाइंट की मजबूती

Read Next

जयपुर के पुनीत सोनी कर रहे है महाराजा अजमीढ़ जी की फ़िल्म बनाने पर काम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat