Soni Pariwar india

ठंडे बस्ते से बाहर निकली योजना, जल्द आ सकता है कल्याण ज्वेलर्स का IPO

Warburg Pincus समर्थित कल्याण ज्वेलर्स ने अपने IPO प्लान को ठंडे बस्ते से निकाल दिया है।

केरल स्थित भारत की अग्रणी ज्वेलरी कंपनी Kalyan Jewellers ने अपने 1,800 करोड़ रुपये के ठंडे बस्ते में पड़े IPO प्लान में एक बार फिर जान फूंक दी है। बता दें कि कल्याण ज्वेलर्स में प्राइवेट इक्विटी फर्म Warburg Pincus ने बड़ा निवेश कर रखा है। इस मामले की नजदीकी से जानकारी रखने वाले सूत्रों ने मनी कंट्रोल को बताया है कि कल्याण ज्वेलर्स ने अपनी IPO की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है और अगस्त के अंत या सितंबर के शुरुआत में कंपनी इस IPO से संबंधित DRHP (draft red herring prospectus) मार्केट रेग्यूलेटर Sebi में जमा कर देगी। ये निर्णय ज्वेलरी सेक्टर के कोरोना के हमले से उबरने को संकेत मिलने और ज्वेलरी डिमांड में बढ़त को देखते हुए लिया गया है।

बता दें कि कोरोना के चलते बाजार में IPO का आना रुक गया था। लेकिन 23 जुलाई को स्पेशियालिटी केमिकल कंपनी Rossary Biotech के ब्लॉक बस्टर स्टॉक मार्केट डेब्यू के साथ ही सारी हिचक हट गई और कंपनियां अपने IPO प्लान को आगे बढ़ाती दिख रही हैं।

मामले की जानकारी रखने वाले एक स्रोत ने मनीकंट्रोल को बताया कि Kalyan Jewellers की योजना शेयरों के प्राइमरी और सेकेंडरी इश्यू के जरिए बाजार से 1,600- 1,800 रुपये जुटाने की है। मार्च तिमाही में कंपनी का प्रदर्शन अच्छा रहा है। बाजार से संगठित क्षेत्र की कंपनियों के कारोबार में फिर से तेजी के संकेत मिल रहे हैं जिससे उत्साहित होकर कंपनी अपने IPO प्लान को आगे बढ़ा रही है। बता दें कि कंपनी 2018 से शुरुआत में ही आईपीओ लाने पर विचार कर रही थी लेकिन फिर इस योजना को टाल दिया गया था।

 

एक दूसरे सूत्र से मिली जानकारी के मुताबिक Kalyan Jewellers के इस IPO के लिए Axis Capital, Citi, ICICI Securities और SBI Capital को  investment banker नियुक्त किया गया है। इस लिस्टिंग से कंपनी में Warburg Pincus को अपनी कुछ हिस्सेदारी बेचने का मौका मिलेगा। इसके कंपनी को कर्ज घटाने में भी मदद मिलेगी।

मामले से जुड़े एक और सूत्र ने मनीकंट्रोल को बताया कि सभी जरूरी मंजूरियों के मिलने के बाद 2021 के जनवरी से मार्च के बीच इस  IPO के आने की सबसे अच्छी संभावना है। अगर ये योजना कार्यरूप लेती है और सफल रहती है तो इससे Joyallukas और Malabar Jewellers जैसी दूसरी ज्वैलरी कंपनियों को भी ऐसा करने की प्रेरणा मिल सकती है। इन तीनों सूत्रों ने मनीकंट्रोल को ये जानकारी उनके नामों की गोपनीयता बनाए रखने की शर्त पर दी है।

 

बता दें कि Warburg Pincus ने दो चरणों में  Kalyan Jewellers में करीब 1,700  करोड़  रुपये का निवेश कर रखा है। इसके बदले में  Warburg Pincus के पास Kalyan Jewellers की मेजोरिटी हिस्सेदारी है। रेटिंग एजेंसी ICRA की सितंबर 2019 में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक Kalyan Jewellers में Warburg Pincus की 30 फीसदी हिस्सेदारी है।

source link :-money control

Read Previous

स्वर्ण-आभूषण की हालमार्किग अनिवार्य करने की समय सीमा बढ़कर जून 2021 हुई

Read Next

लूणकरणसर में कोरोना यौद्धाओं के अभिनंदन की तृतीय कड़ी में रविवार को पुलिसकर्मिर्यों का हुआ सम्मान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat