Soni Pariwar india

एंबुलेंस से पैतृक गांव पहुंचा सीएम योगी के पिता का पार्थिव शरीर, फूलचट्टी में गंगा तट पर होगा अंतिम संस्कार

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता स्व. आनंद सिंह बिष्ट का पार्थिव शरीर सोमवार देर शाम एंबुलेंस से यमकेश्वर स्थित उनके पैतृक गांव पंचूर पहुंचा। मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार लक्ष्मणझूला के पास फूलचट्टी में गंगा तट पर किया जाएगा। उनके अंतिम संस्कार में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी शामिल होंगे।

पौड़ी जिला प्रशासन की ओर से अंतिम संस्कार की तैयारी कर ली गई हैं। सोमवार शाम पंचूर गांव पहुंचे उच्च शिक्षा और सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. धन सिंह रावत परिजनों को ढांढस बधाने के लिए गांव पहुंचे। डा. धन सिंह रावत ने बताया कि स्व. आनंद सिंह बिष्ट का अंतिम संस्कार मंगलवार सुबह फूलचट्टी में किया जाएगा।

दिल्ली स्थित एम्स से स्व. आनंद सिंह बिष्ट का पार्थिव शरीर एक एंबुलेंस में लाया गया। जो देर शाम मेरठ, बिजनौर, नजीबाबाद और कोटद्वार होते हुए यमकेश्वर उनके गांव पहुंची। एंबुलेंस के साथ यूपी और उत्तराखंड पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के वाहन भी साथ चल रहे थे।

बता दें कि सीएम योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट (89) ने आज सुबह 10:44 बजे एम्स में अंतिम सांस ली। उनके निधन की खबर लगते ही यमकेश्वर क्षेत्र में शोक की लहर छा गई। वह अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं। उनके अंतिम दर्शनों के लिए गांव में बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए हैं। सभी नाते रिश्तेदार भी गांव पहुंच गए हैं।

वर्ष 2017 के मार्च महीने में आनंद सिंह बिष्ट का परिवार तब चर्चाओं में आया, जब उनके दूसरे नंबर के बेटे योगी आदित्यनाथ (अजय मोहन बिष्ट) ने यूपी के सीएम के रुप में कार्यभार संभाला। तब उत्तराखंड सरकार की ओर से योगी आदित्यनाथ के परिवार को वाई श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई। वन विभाग में रेंज अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त आनंद सिंह बिष्ट वर्तमान में अपने परिवार के साथ पैतृक गांव यमकेश्वर ब्लाक के पंचूर गांव में रह रहे थे। वह करीब तीन माह से बीमार चल रहे थे।

उनके सबसे छोटे बेटे महेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि वे गत आठ फरवरी से बीमार चल रहे थे। तब उन्हें जौलीग्रांट अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां उपचार के बाद 15 फरवरी को उन्हें छुट्टी दे दी गई थी, इस बीच फिर तबियत बिगड़ने पर उन्हें गत 10 मार्च को जौलीग्रांट अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां डाक्टरों ने उन्हें निमोनिया की शिकायत बताई और हालत गंभीर होने के कारण दिल्ली एम्स के लिए रेफर कर दिया गया था।

गत 13 मार्च को उन्हें दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था। जहां वह गेस्ट्रों के आईसीयू में भर्ती थे। करीब एक सप्ताह बाद उनकी हालत में सुधार होने लगा था, जिसके कारण डाक्टरों ने उन्हें आईसीयू से वार्ड में शिफ्ट कर दिया था। फिर यकायक उनकी हालत गंभीर बन गई, उनके फेफड़ों में पानी भरने लगा था। सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी। सोमवार सुबह 10:44 बजे उन्होंने एक्स में ही अंतिम सांस ली।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत उनके चार बेटे और तीन पुत्रियां हैं। सबसे बड़ी तीन बेटियां पुष्पा देवी, कौशिल्या देवी और शशिदेवी हैं। इसके बाद बड़ा बेटा मानवेंद्र सिंह है। दूसरे नंबर पर योगी आदित्यनाथ (अजय मोहन सिंह बिष्ट) हैं। तीसरे बेटे शैलेंद्र मोहन भारतीय सेना में सूबेदार के पद पर सेवारत हैं। चौथा सबसे छोटा पुत्र महेंद्र बिष्ट पत्रकारिता में हैं। सोमवार को पिता के निधन की खबर लगते ही शोक संतप्त तीनों बेटियां अपने परिवारों के साथ उनके अंतिम दर्शनों के लिए गांव पहुंच गई हैं। उनके निधन की खबर मिलते ही समूचे यमकेश्वर क्षेत्र में शोक की लहर छा गई। बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी, जनप्रतिनिधि और अधिकारी उनके आवास पर पहुंचे हुए हैं।

source :- amarujala

Read Previous

मुंबई में 53 मीडियाकर्मी भी आये कोरोना वायरस की चपेट में, अधिकतर में कोई लक्षण नहीं

Read Next

खत्म हो गई महंगी क्रीम तो दूध से पाएं दमकती त्वचा, चेहरे के दाग-धब्बे भी हो जाएंगे दूर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat