Soni Pariwar india

लाॅकडाउन के बाद बदल जाएगी ब्यूटी एंड सैलून इंडस्ट्री, लेनी होगी ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट, हेयर कट-फेशियल के लिए डिस्पोजल किट का होगा इस्तेमाल

  • 1 लाख 20 हजार लोग कर रहे हैं बाल कटवाने और थ्रेडिंग-फेशियल का इन्तजार
  •  सैलून एट होम सर्विस के लिए हर दिन 30 हजार लोग कर रहे हैं बुकिंग

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लागू देशव्यापी लाॅकडाउन ने अपने 50 दिन पूरे कर लिए हैं। इस बीच ट्रेन, फ्लाइट्स, स्कूल, कार्यालय, रेस्तरां, माॅल और सैलून सबकुछ बंद है। तमाम मुश्किलों के बीच लोगों के सामने सबसे बड़ी समस्या खुद से हेयर कट और ब्यूटी ग्रूमिंग को लेकर रहीं। हालांकि लाॅकडाउन 3.0 में सरकार ने कुछ रियायतें दी हैं लेकिन सैलून को खोलने की अनुमति अब भी नहीं दी गई है। इस दौरान लोग सैलून एट होम सर्विस देने वाली अर्बन क्लैप और येस मैडम जैसी ऐप पर बुकिंग कर रहे हैं। अर्बन कंपनियों ने ग्रीन और ऑरेंज जोन में सर्विस शुरू कर दी है।

हर दिन 30 हजार लोग कर रहे हैं बुकिंग

अर्बन क्लैप कंपनी के को-फाउंडर अभिराज सिंह बल कहते हैं कि लाॅकडाउन में लाखों लोगों ने सैलून एट होम सर्विस के लिए बुकिंग की है। दिन पर दिन ग्राहकों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। वे बताते हैं लाॅकडाउन के चलते लोग घरों में बंद हैं, सैलून बंद है। इसके चलते हेयर कट समेत अन्य ग्रूमिंग एक्टिविज भी नहीं कर पा रहे हैं। लाॅकडाउन के बाद लोगों की सबसे पहली प्राथमिकता हेयर कट, सेविंग, थ्रेडिंग, फेसियल जैसी अन्य ब्यूटी ग्रूमिंग पर रहेगी। यही वजह है कि अबर्न कंपनी के पास करीब 20-30,000 लोग ग्रूमिंग के लिए बुकिंग कर रहे हैं। करीब 1,20,000 लोग वेटिंग लिस्ट में हैं। वे बताते हैं कि मैन पावर की कमी और लाॅकडाउन के नियम के चलते हम सर्विस नहीं दे पा रहे हैं। वित्त वर्ष 2020 में कंपनी का रेवेन्यू दोगुना होकर करीब 216 करोड़ रुपए हो गया है। आने वाले दिनों में कंपनी को अच्छी कमाई की उम्मीद है।

येस मैडम पर एक घंटे में फुल हो गई बुकिंग

अर्बन क्लैप की प्रतिद्वंदी स्टार्टअप कंपनी येस मैडम ने आज शुक्रवार से ग्रीन और ऑरेंज जोन में अपनी सर्विस शुरु कर दी है, रेड जोन में सर्विस बंद है। कंपनी के संस्थापक मयंक ने मनी भास्कर से बातचीत में बताया कि ऐप पर जैसे ही सर्विस शुरू की गई 5 मिनट के अंदर करीब 100 के आसपास लोगों ने बुकिंग्स की है। वे बताते हैं कि एक घंटे में ही बुक ओवर हो गईं। आलम यह रहा है कि कुछ देर बाद में बुकिंग्स क्लोज करने पड़े क्योंकि मौजूदा संकट को देखते हुए एक दिन में केवल दो से तीन कस्टमर को ही सर्विस दी जाएगी। मंयक के मुताबिक, कंपनी अब सिर्फ उन्हीं कस्टमर को अपनी सर्विस देंगी जिसके फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड होगा। साथ ही कंपनी के ऐप पर ग्राहक को वर्तमान तापमान मेंशन करना होगा। 98-99 डिग्री से अधिक तापमान वाले ग्राहकों की बुकिंग कैंसिल कर दी जाएगी। मंयक बताते हैं कि बड़ी संख्या में लोग सर्विस शुरू करने को लेकर पूछताछ करते हैं। इससे हम उम्मीद कर रहे हैं कि लाॅकडाउन के बाद बिजनेस में तेजी आएगी। बता दें कि येस मैडम की सर्विस दिल्ली-एनसीआर समेत 15 शहरों में है। यह घर जाकर ग्रूमिंग सर्विस देती है।

पोस्ट लाॅकडाउन ब्यूटी सैलून जाने के लिए अप्वाइंटमेंट होगा जरूरी

लाॅकडाउन के बाद हेयर कट हो या थ्रेडिंग या फिर फेशियल। किसी भी सर्विस के लिए ब्यूटी सैलून में जाने से पहले अप्वांटमेंट लेना अनिवार्य होगा। दिल्ली की मेकअप आर्टिस्ट व स्टार सैलून की ओनर आशमिन मुंजाल ने बताया कि लाॅकडाउन के बाद ग्राहक और ब्यूटिशियन दोनों को सैलून सर्विस का नया अनुभव होगा। वे बताती हैं कि ज्यादातर सैलून में जहां तक संभव हो सके काॅन्टैक्टलेस सर्विस देगी। वहीं, मास्क-ग्लव्स और सैनिटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य होगा।

स्वर्णकार समाज की खबरे देखने के लिए क्लिक करे 

बदल जाएगा हेयरकट, फेशियल और थ्रेडिंग का तरीका

  • आशमिन मुंजाल ने बताया कि सालों से चली आ रही थ्रेडिंग (आइब्रो बनाने) का तरीका बदल जाएगा। अब सभी सैलून में माउथलेस थ्रेडिंग पर जोर दिया जा रहा है। यानी कि ब्यूटिशियन पहले की तरह धागे को मुंह में रखकर थ्रेडिंग नहीं बना सकती है। इसके लिए एक गले का पट्टा बनाया गया है जिसे थ्रेडिंग करते समय ब्यूटिशियन को अपने गर्दन में लगाना होगा। धागे को अब गर्दन में लगाकर थ्रेडिंग करनी होगी।
  • सभी उपकरण को हर घंटे सैनिटाइज किया जाएगा। अब लो-काॅन्टैट वैक्सिंग और फेसियल होगा। यानी ग्राहक को कम से कम टच किए बगैर सर्विस दी जाएगी।
  • वन टाइम, वन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया जाएगा। यानी कि एक प्रोडक्ट को सिर्फ एक ग्राहक पर ही इस्तेमाल किया जा सकेगा।
  • हेयर कट, मैनिक्योर, पैडिक्योर, फेसियल के लिए डिस्पोजल किट होंगे जिसे एक ग्राहक पर इस्तेमाल करके फेंक दिया जाएगा।
  • पीपीटी किट का इस्तेमाल किया जाएगा। कंघी, कैंची और तौलिया जैसा सामान जिसका इस्तेमाल सैलून में काफी बार किया जाता है। इसके लिए ऑटो क्लेव मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। यानी एक ग्राहक पर यूज होने के बाद इसे उच्च तापमान वाले मशीन में डालकर सैनिटाइज किया जाएगा।
  • ब्यूटिशियन, ग्राहक को मास्क लगाना अनिवार्य होगा।
  • सैलून में सर्विस के लिए मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप होना जरूरी है।
  • बिल का भुगतान डिजिटल माध्यम के जरिए ही किया जाएगा।

source:-money bhaskar

Read Previous

फूड डिलिवरी के बिजनेस में आई मेक माय ट्रिप, लग्जरी होटल और महंगे रेस्टोरेंट के साथ की साझेदारी

Read Next

इन डॉक्युमेंट्स से मुफ्त में बन जाएगा किसान क्रेडिट कार्ड, मिलेंगे ये फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat